विश्व प्रसिद्द व्यक्तित्व-नेताजी सुभाष चंद्र बॉस

नेताजी सुभाष चंद्र बॉसनेताजी सुभाष चंद्र बॉस

जन्म:  23 जनवरी 1897 | मृत्यु: 18 अगस्त 1945

बचपन से ही सुभाष में राष्ट्रीयता के लक्षण प्रकट होने लगे थे और निश्वार्त सेवा भावना उनके चरित्र की विशेषता थी। इन सभी उदात्त प्रवृतियों से ही उनके क्रन्तिकारी एवं उदार व्यक्तित्व का निर्माण हुआ था। 12 वर्ष की आयु में उन्होने अपने नगर के हैज़ा पीड़ित लोगो की अद्भुत लग्न से देवा की थी। सुभाष एक मेधावी छात्र भी थे। उन्होंने ICS परीक्षा पास करने के बाद भी अंग्रेज़ो की नौकरी को स्वीकार नहीं किया और अपने जीवन को राष्ट्रिय आंदोलन को समर्पित कर दिया।

नेताजी के जीवन एक बड़ा भाग अंग्रेज़ो की जेल में ही बिता था। ‘नेताजी’ के नाम से विख्यात सुभाष चंद्र ने सशस्त्र क्रांति द्वारा भारत को आजाद के उद्देश्य से 21 अक्टूबर, 1943 को आजाद हिन्द फ़ौज की स्थापना की तथा आजाद हिन्द फ़ौज का गठन किया। सही सेना ने 1943 से 1945 तक अंग्रेज़ों से युद्ध किया था तथा उन्हें भारत को आजाद कर देने के बारे में सोचने को विवश कर दिया।

सुभाष का जन्म कटक (उड़ीसा) के एक प्रतिष्ठित परिवार में हुआ था। 5 वर्ष की आयु में उन्होंने अंग्रेजी का अध्ययन प्रारम्भ कर दिया था। युवावस्था इन्हे राष्ट्रसेवा में खिंच लाई। गांधीजी से मतभेद होने के कारण नेताजी कांग्रेस से अलग हो गये और ब्रिटिश जेल से भागकर जापान पहुंच गए। नेताजी ने जापान में भारतीय प्रवासियों का समर्थन बटोरा और अंग्रेज़ो पर आक्रमण कर दिया। 1943 से 1945 तक आजाद हिन्द सेना अंग्रेज़ो से युद्ध करती रही। अंतत ब्रिटिश शासन को नेताजी ने महसूस करा ही दिया कि भारत को आजादी देनी ही पड़ेगी। माना जाता है कि एक विमान दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी परन्तु आज भी इसको लेकर विवाद है।

सुभाष भारतीयता की पहचान बन गए थे और भारतीय युवक आज भी उनसे प्रेरणा लेते हैं। ‘जय हिन्द‘ का नारा और अभिवादन नेताजी की ही देन है। उनका प्रसिद्द नारा हैं –

तुम मुझे खून दो ,
मैं तुम्हे आजादी दूंगा।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 3

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post? Please mention your Email so that we can contact you for better feedback.

Leave a Reply